THE BEST MOVIES AND VIDEOS
  • गुडिया सामूहिक दुष्कर्म व् हत्याकाण्ड : यूथ क्लब बुड़ैल के सदस्यों ने कैंडल मार्च निकाला

    चण्डीगढ़ -देवभूमि हिमाचल के शिमला जिले की कोटखाई तहसील में पिछले दिनों गुडिया नामक नाबालिग बच्ची के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म व् हत्या के मामले को लेकर विरोधस्वरूप आज यूथ क्लब बुड़ैल के सदस्यों ने कैंडल मार्च निकाला। इन्होने मांग की कि जल्द से जल्द इस काण्ड में शामिल दोषियों को दबोच कर उन्हें बेनकाब किया जाए चाहे वो कितना भी प्रभावशाली क्यों न हो। इस मौके पर पूर्व पार्षद विजय राणा, विनायक बांगिया, गौरव राणा, अखिल ठाकुर, जतिन राणा, लखविंदर राणा, प्रभपाल, रितिक बगिया, सुनील राजपूत, नोनी, मीत सैनी, सागर सैनी आदि मौजूद थे। इस अवसर पर बुड़ैल चौकी के प्रभारी सतनाम सिंह भी पधारे व उन्होंने भी इस प्रयास को सराहा।

  • भ्रस्टाचार के खिलाफ हमारी लड़ाई कभी ख़तम नहीं होगी

    आज आल इंडिया एंटी कर्रप्शन बोर्ड लुधियाना की तरफ से बोर्ड की मीटिंग श्री सुरिंदर डाबर एम् एल ए की सरपरस्ती में नूरवाला रोड शिवपुरी में ओहदेदार के नियुक्ति पत्र देने के लिए की गयी। इस मीटिंग की प्रधानगी जिला प्रधान श्री सुरिंदर सैनी जी ने करि। अतः इस मीटिंग में पंजाब प्रधान श्री अशोक बंसल जी भी जी भी बाकी ओहदेदार को भी नियुक्ति पत्र देने के लिए हाजिर हुए। मीटिंग को सम्भोतित करते जिला प्रधान सुरिंदर सैनी ने कहा की हमारा काम शुरू से ही भ्रष्टाचार पे लगाम लगाना है। हमेशा से ही हमारी संस्था भ्रष्टाचार पे लगाम लगाने के लिए अग्रसर है। और हम आशा करते हैं की जो हमारे नए नियुक्ति हैं वो भी हमारे साथ भ्रस्टाचार के खिलाफ हमारी चलायी जा रही मुहीम में हमारा साथ देंगे। नवनियुक्त किये गए ओहदेदार ,श्री बावा भंडारी सेक्ट्री जनरल ,श्री मति अनीता कालिया वाईस प्रेजिडेंट ,श्री कृष्ण दुरेजा प्रोपरगेंडा सेक्ट्री ,श्री राहुल शर्मा सेक्ट्री ,आदि को नियुक्ति पत्र दिए गए

  • मेड इन इंडिया रेस्तरा में गोवा फूड फेस्टीवल 20 से 31 जुलाई तक

    गर्मी की छुट्टिया मनाने के बाद अगर आप अपने शहर लुधियना वापिस आ गए है और गोवा के खाने को चखने का मन कर रहा है तो लुधियाना के मेड इन इंडिया रेस्तरां में जोकि रेडिसन ब्लू होटल एमबीडी लुधियाना में स्थित है। वहां आप गोअन फूड फेस्टीवल का जायका चख सकते है। यह फेस्टीवल 20 जुलाई को शुरु हुआ और 31 जुलाई तक चलेगा। रेस्तरां में गोवा म्यूजिक और वेटरस की वेशभूषा और इंडिरियर डेकोरेट भी गोवा थीम पर किया गया है। जहां आप बोट और कोकोनेट ट्री के साथ सेल्फी भी ले सकते है। यह गोअन फूड फेस्टीवल का मेन्यू होटल के शेफ ज्योत सिंह राणा जिनमें कि मासाहारी और शाकाहारी दोनों व्यंजनों का विकल्प मौजूद है। जिन लोगों को सी फूड खाना पसंद है वो इस फेस्टीवल में पेरीटेरीरवाफ्राइड फ्रोन जोकि पोटूगल स्टाइल में बनाया गया है। खातखातेन सब्जी जोकि कोकोनेट पेस्ट और क्रीम से बनाई गई है। वो शाकाहारी खाने के पसंदीदा लोगों के लिए एक बेहतरीन विकल्प है। मटन विंदालू जिसे कि गोवा से मंगवाए हुए मसालों से इस्तेमाल किया है। डेजेट बबिनका जोकि गोवा में काफी मशहूर है उसे भी मेन्यू रखा गया है। अरिंदन चक्रवर्ती रेडीसन ब्लू

  • पंजाबी मोट्यार पंजाबी परांदे पहन किया रैंप वॉक । तीज फेस्टिवल का किया आगाज

    लुधियाना - (अजय पाहवा )पंजाबी डीवाज़ सोशल लेडिस क्लब की तरफ से तीज का त्योहार बड़ी ही धूमधाम से मनाया गया इस अवसर पर लेडीज़ ने पंजाबी सभ्याचार को मुख्य रखते हुए पंजाबी सूट परांदे मेहंदी चूड़ियां आदि से सजधज कर भाग लिया अभी सदस्यों में खुशी की लहर थी इस अवसर पर क्लब की तरफ से पंजाबी रैंप वॉक भी करवाया गया जिसमें परांदे को लहराती मुट्यारें अपने परांदे से जलवा बिखेरती नजर आईं ।तीज फेस्टिवल में रैंप वॉक मेहंदी डांस गिद्दा भंगड़ा मुख्य रहा जिसमें प्रतिभागियों को इनाम दिए गए । अवसर खुशी का हो तो प्रतिभागियों को सम्मान दिया जाता है । निशु सेठ सविंका चोपड़ा प्रीत कमल मिनी गांधी ने जज की भूमिका निभाई। क्लब की प्रधान कुलदीप कौर ने बताया कि हमारे इस फेस्टिवल में मुख्य मेहमान रहे राशि अग्रवाल ,नंदिनी जैरथ ,ओर रोमा दादा का धन्यवाद किया । कुलदीप कोर ने बताया कि ऐसे त्योहार औरतों को खुशी प्रदान करते हैं और पंजाबी सभ्याचार को बढ़ावा देते हैं । इसलिए हमारा समाज के प्रति भी फर्ज बनता है कि आने सभ्याचार को बढ़ावा देना चाहिए पंजाबियत को किसी पहचान की जरूरत नही जहां पंजाबी जाते हैं वही पंजाबियत बन जाती है। इस मौके क्लब के सभी सदसय दलजीत कौर कीर्ति कपूर नंदिनी कपूर हरदीप दुआ मिनी गांधी दिव्य हनी बवेजा तमन्ना सहगल ट्विंकल चोपड़ा मनीषा कटारिया मान्य कटारिया निशु चुग इंदु आदि उपस्थित रहे

  • सुमन वर्मा को कांगे्रस कमेटी को-आड्रीनेंशन सैल की महासचिव का सौंपा नियुक्त पत्र

    लुधियाना : पंजाब प्रदेश कांगे्रस कमेटी को-आड्रीनेंशन सैल की एक बैठक का आयोजन इंचार्ज कुंवर ओंकार सिंह नरूला की अध्यक्षता में हरचरण नगर में किया गया। जिसमें विशेष तौर पर सिम्मी पाशान चेयरपर्सन पंजाब वूमैन हैल्पलाईन, कुलविन्द्र सिंह प्रधान हुमन राईटस प्रोटैक्शन कौंसिल, अहमद अली गुडडू चेयरमैन कांगे्रस कमेटी को-आड्रीनेंशन सैल, मनजीत सिंह प्रैस सचिव कांगे्रस कमेटी पहुंचे। इस मौके पर कांगे्रस नेत्री सुमन वर्मा को जिला कांगे्रस कमेटी को-आड्रीनेंशन सैल का महासचिव मनोनीत करके नियुक्ति पत्र सौंपा गया। चेयरपर्सन सिम्मी पाशान ने कहा कि कांगे्रस पार्टी में हर एक को उसका बनता सम्मान दिया जाता है और महिलाओं को आत्म निर्भर बनाने के लिए उन्हें समाज में कार्य करना का मौका दिया जाता है। नवनियुक्त महासचिव सुमन वर्मा ने कहा कि पार्टी ने उन्हें जो जिम्मेवारी सौंपी है वह उसे बाखूबी निभाएगी और महिलाओं के अधिकारों को बुलंद करने के लिए मुहिम चलाएगी। इस मौके पर सिमरणजीत सिंह ओबराए, सुखविन्द्र कौर, कुलविन्द्र वर्मा, कमलजीत सिंह चावला, प्रेम लता, आदि उपस्थित थे।

पंजाब
स्वतंत्रता दिवस पर अटारी सीमा पर पाकिस्तान रेंजर्स के विंग कमांडर बिलाल को बीएसएफ के कमांडेंट सुदीप ने की मिठाई भेंट

अमृतसर। स्वतंत्रता दिवस पर अटारी सीमा पर पाकिस्तान रेंजर्स के विंग कमांडर बिलाल को बीएसएफ के कमांडेंट सुदीप ने मिठाई भेंट की। अटारी सीमा पर स्वतंत्रता दिवस समारोह धूमधाम से मनाया गया। बॉर्डर पर कमांडेंट सुदीप ने ध्वजारोहण किया। बता दें, सीमा पर स्वतंत्रता दिवस पर मिठाई की आदान-प्रदान की परंपरा है। गत दिवस 14 अगस्त को पाकिस्तान की आजादी की 71वीं वर्षगांठ पर भारत ने भी आपसी सौहार्द की मिसाल पेश करते हुए पाकिस्तान को आजादी दिवस की मुबारकबाद दी। बीएसएफ ने अमृतसर में अटारी वाघा सीमा व फाजिल्का में सादगी चौकी पर पाक रेंजर्स ने भारत को मिठाई भेंट की। पिछले एक साल से दोनों देशों के रिश्तों में आई कड़वाहट को देखते हुए इस बार आशंका जताई जा रही थी कि इस बार मुंह मीठा होगा या नहीं लेकिन पाक रेंजर्स ने मिठाई देने की रस्म निभा दी।

कैप्टन ने सिद्धू की तारीफ में पढ़े कसीदे, कहा- बाकी मंत्री भी करें एेसा काम

अमृतसर। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के कामकाज करने के तरीके की तारीफ की। कहा कि बाकी मंत्री भी सिद्धू से प्रेरणा लें और पूरी तन्मयता से काम करें। कैप्टन ने कहा कि सिद्धू द्वारा उठाए गए सारे मामले सही हैं। सिद्धू ने भ्रष्टाचार से जुड़े जो मामले उठाए हैं उसके दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में भूजलस्तर लगातार गिर रहा है। इसको देखते हुए पंजाब सरकार वल्ड बैंक के सहयोग से अमृतसर, जालंधर, लुधियाना और पटियाला में नहरी पानी की सप्लाई घरों तक पहुंचाई। इसका उद्देश्य ट्यूबवेल सिस्टम पर नकेल कसना है। इस प्रोजेक्ट की शुरुआत गुरुनगरी से की जाएगी। इस परियोजना पर वर्ल्ड बैंक के सहयोग से 3000 करोड़ से खर्च किए जाएंगे। भाजपा नेत्री व पूर्व सेहत मंत्री प्रोफेसर लक्ष्मीकांता चावला ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को ज्ञापन सौंपा। उन्होंने शहीद मदन लाल ढींगरा के घर को स्मारक बनाए जाने की मांग की। कैप्टन ने कहा कि इस पर विचार किया जाएगा।

स्‍वतंत्रता दिवस पर पूरे पंजाब में कड़ी सुरक्षा

चंडीगढ़। स्‍वतंत्रता दिवस पर पूरे पंजाब में कड़ी सुरक्षा है। पुलिस ने सभी प्रमुख स्‍थानों, हाइवे और शहरों में नाकेबंदी कर रखी है। पाकिस्‍तान सीमा से लगते क्षेत्रों में भी कड़ी सुरक्षा है।सभी जिला पुलिस प्रमुखों को चौकन्ना रहने के आदेश जारी किए हैं। भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर अतिरिक्त सुरक्षा बढ़ाई गई है। सभी नेशनल व स्टेट हाईवे से गुजरने वाले वाहनों पर पुलिस ने सूबे के विभिन्न मुख्य मार्गों पर वाहनों की सघन जांच कर रही है। राज्‍य में जिलों में स्वतंत्रता दिवस समारोह की सुरक्षा के लिए पांच हजार अतिरिक्त पुलिस फोर्स के जवानों व पैरामिलिट्री के जवानों की तैनाती की गई है। पुलिस हेडक्वार्टर की तरफ से सभी जिलों के पुलिस प्रमुखों से तीन दिन पहले ही सुरक्षा की तैयारियों की रिपोर्ट ली गई थी। जिला पुलिस प्रमुखों की तरफ से सुरक्षा को लेकर कि गई अतिरिक्त जवानों की मांग के मद्देनजर रविवार को ही संबंधित जिलों को पुलिस फोर्स उपलब्ध करवा दी गई। डीजीपी (लॉ एंड ऑर्डर) हरदीप सिंह ढिल्लों ने कहा कि सूबे की सुरक्षा की कमान पंजाब पुलिस के हवाले ही रहेगी। सभी जिलों में पुलिस बलों व पैरामिलिट्री फोर्स की अतिरिक्त तैनाती कर दी गई है। डीजीपी इंटेलिजेंस दिनकर गुप्ता ने कहा कि फिलहाल केंद्रीय एजेंसी की तरफ से कोई अलर्ट जारी नहीं किया गया है। फिर भी पंजाब पुलिस को पंजाब इंटेलिजेंस विंग की तरफ से पूरी तरह चौकस रहने के निर्देश जारी किए गए हैं।

भारत
लाल किले के ऊपर काली पतंग उडऩे से सुरक्षा एजेंसियां परेशान

नई दिल्ली । सारी सुरक्षा व्‍यवस्‍था पूर्व निर्धारित रणनीति के तहत चाक-चौबंद थी। भारी सुरक्षा के बीच मंगलवार को स्वतंत्रता दिवस समारोह संपन्न भी हो गया। लेकिन वहीं पिछले साल की तरह इस बार भी लाल किले के ऊपर काली पतंग उडऩे से सुरक्षा एजेंसियां परेशान दिखीं। सुरक्षाकर्मी दूरबीन से पतंग के मूवमेंट पर घंटों नजरे टिकाए रहे। हालांकि पिछले एक महीने से राजधानी हाई अलर्ट पर थी। दिल्ली पुलिस समेत तमाम सुरक्षा एजेंसियां सुरक्षा तैयारी में जुटी थीं। इस बार भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले की प्राचीर से बिना बुलेटप्रूफ ग्लास वाले घेरे से राष्ट्र को संबोधित किया, जबकि 13 अगस्त को हुए फुल ड्रेस रिहर्सल में बुलेटप्रूफ ग्लास लगाया गया सात स्तर की थी सुरक्षा व्यवस्था लाल किले पर सात स्तर की सुरक्षा व्यवस्था की गई थी। दिल्ली पुलिस के जिम्मे बाहरी घेरा था। सुरक्षा में रोबोट का भी इस्तेमाल किया गया। स्वतंत्रता दिवस पर आतंकी साये को देखते हुए पूरी राजधानी में चप्पे-चप्पे पर दिल्ली पुलिस व पैरा मिलिट्री की तैनाती की गई थी। दिल्ली में प्रवेश करने वाले वाहनों की सघन जांच की जा रही थी। राष्ट्रीय राजमार्गों से लेकर लाल किले तक जाने वाले रास्ते के चप्पे-चप्पे पर दिल्ली पुलिस, रिजर्व पुलिस बल, केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के जवान तैनात थे। लाल किले तक पहुंचने वाले वाहनों की जांच चार से पांच चरणों में हुई। कड़ी जांच के बाद ही वीवीआइपी के वाहनों को लाल किले के पास निर्धारित पार्किंग स्थल तक जाने दिया गया। करीब 650 इमारतों और 150 घरों की खिड़कियों को सील किया गया था। लाल किले के आसपास, आइएसबीटी, गीता कॉलोनी फ्लाईओवर, सिविक सेंटर समेत साठ से अधिक ऊंची इमारतों की छतों पर एंट्री एयरक्राफ्ट व एयर डिफेंस गन लगाए गए थे ताकि इनके जरिये हवाई हमले को ध्वस्त किया जा सके। उच्च क्षमता वाले सीसीटीवी कैमरों के लिए पांच कंट्रोल रूम बनाए गए थे। पुलिस प्रवक्ता डीसीपी मधुर वर्मा ने लाल किले पर पुख्ता सुरक्षा इंतजाम किए गए थे। प्रधानमंत्री की सुरक्षा में कोई चूक नहीं हुई है। पतंग बहुत दूर से उड़ते हुए लाल किले पर आकर गिरी, जो सुरक्षा में चूक का मामला नहीं है।

बीरेन्द्र ने कहा कि जहां दिल्ली में अनुसूचित जाति के लोग उनके लिये स्थापित फंड के दुरुपयोग आदि के कारण केजरीवाल सरकार से नाराज हैं

नई दिल्ली । केन्द्रीय मंत्री चौ. बीरेन्द्र सिंह ने सोमवार को बवाना विधानसभा उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी वेद प्रकाश के समर्थन में प्रचार किया। माजरा गांव, पूंठकला, जाटखोड़, पंजाबखोड़, कुतुबगढ़, नांगल ठाकरान, बरवाला और डीपीएस पार्क रोहिणी सी में जनसभाओं को संबोधित करते बीरेन्द्र सिंह ने कहा कि केजरीवाल सरकार ने अपने दुराचार से न सिर्फ दिल्ली की जनता को शर्मिंदा किया है बल्कि सारे देश के लोगों को निराश भी किया है जिसके परिणाम के रूप में केजरीवाल दल को, 2017 के प्रारम्भ में गोवा, दिल्ली और पंजाब की चुनावी हार देखनी पड़ी। बीरेन्द्र ने कहा कि जहां दिल्ली में अनुसूचित जाति के लोग उनके लिये स्थापित फंड के दुरुपयोग आदि के कारण केजरीवाल सरकार से नाराज हैं वहीं जाटों सहित अन्य कृषक जातियां 2015 एवं 2016 में फसल मुआवजे में हुये भ्रष्टाचार और देहात को अच्छी स्वास्थ्य एवं शिक्षा-सुविधायें न मिलने के कारण केजरीवाल से त्रस्त हैं। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि लैंडपूल पॉलिसी में लंबा विलंब करने, अनुसूचित जाति फंड का दुरूपयोग करने, फसल मुआवजे में भ्रष्टाचार और देहात में विकास ठप करना केजरीवाल सरकार एवं दल को बवाना उपचुनाव में बहुत महंगा पड़ेगा।

जम्मू-कश्मीर में घुसपैठ नाकाम, पांच विदेशी आतंकी ढेर; भारी मात्रा में गोला बारूद बरामद

श्रीनगर। सेना ने सोमवार को मच्छल सेक्टर (कुपवाड़ा) में घुसपैठ के एक बड़े प्रयास को नाकाम बनाते हुए पांच विदेशी आतंकियों को मार गिराया। एलओसी पर कुछ और घुसपैठियों के छिपे होने की आशंका के चलते सेना ने अभियान जारी रखा हुआ है। इस बीच, मच्छल सेक्टर में अपने पांच आतंकियों की मौत की खीज उतारते हुए पाक सेना ने बारामुला में उड़ी सेक्टर में भारतीय चौकियों पर गोलीबारी की। इस दौरान पाकिस्तान के स्नाइपर शूटर की ओर से दागी गई गोली से एक जवान घायल हो गया। जवान के सिर में गोली लगी है। उसकी हालत अत्यंत नाजुक बनी हुई है। भारतीय सेना ने भी जवाबी फायर किया, लेकिन सीमा पार नुकसान की तत्काल पुष्टि नहीं हो पाई है। मच्छल सेक्टर में घुसपैठ का प्रयास दोपहर बाद हुआ। अग्रिम इलाके में गश्त कर रहे एक सैन्यदल ने घुसपैठियों को भारतीय इलाके में देख उन्हें ललकारा। इसपर घुसपैठियों ने फायङ्क्षरग करते हुए वापस गुलाम कश्मीर की तरफ भागना शुरू कर दिया। जवानों ने आसपास की सुरक्षा चौकियों को सूचित करते हुए घुसपैठियों का पीछा किया। घुसपैठियों ने फायरिंग जारी रखी। इसके बाद वहां मुठभेड़ शुरू हो गई। आतंकियों की तरफ से करीब छह बजे गोलियों की बौछार बंद होने पर जवानों ने मुठभेड़स्थल की तलाश ली तो उन्हें वहां गोलियों से छलनी पांच आतंकियों के शव मिले। आतंकियों के पास से पांच एसाल्ट राइफलें, १६ मैगजीन, भारी मात्रा में कारतूस, दो वायर कटर, १२ हथगोले, मैट्रिक्स शीट, जीपीएस, तीन रेडियो सेट, दवाएं, खाने-पीने का सामान व कुछ अन्य युद्धक सामग्री भी मिली। सूत्रों ने बताया कि दो आतंकियों के शव एक ही जगह पर मिले, जबकि तीन अन्य आतंकियों के शव एक किलोमीटर के दायरे में पड़े हुए थे। इसके अलावा वहां खून के कुछ धब्बे भी मिले हैं, जो मारे गए आतंकियों के अन्य साथियों के हो सकते हैं, जो जख्मी होने का संकेत देते हैं। इनके वापस गुलाम कश्मीर भागने या फिर वहीं कहीं छिपे होने की आशंका है। रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने भी मच्छल में पांच घुसपैठियों कीर मौत की पुष्टि करते हुए कहा कि फिलहाल पूरे इलाके में एहतियात के तौर पर सघन तलाशी अभियान जारी है। पाक गोलाबारी : पाकिस्तानी सेना ने शाम करीब छह बजे उड़ी सेक्टर में जमकर गोलाबारी की। गोलियों की बौछार थमने के कुछ देर बाद भारतीय जवानों के एक दल ने घुसपैठ की आशंका को देखते हुए अग्रिम इलाकों में तलाशी शुरू की। इस दौरान सेना की चार गढ़वाल रेजिमेंट का एक हवालदार नरेंद्र सिंह बिष्ट एलओसी पार बैठे पाकिस्तानी सेना के एक स्नाइपर शूटर की गोली से घायल हो गया। भारत ने इसका करारा जवाब दिया। इसके बाद पाकिस्तानी खेमा पूरी तरह शांत हो गया। घायल नरेंद्र सिंह को तुरंत निकटवर्ती चौकी में पहुंचाया, जहां से उसे हेलीकॉप्टर के जरिए श्रीनगर स्थित सेना के ९२ बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया।

देश- विदेश
अमेरिकी उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने उस मीडिया रिपोर्ट को शर्मनाक करार दिया

वाशिंगटन । अमेरिकी उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने उस मीडिया रिपोर्ट को शर्मनाक करार दिया है, जिसमें कहा गया है कि वह अगले राष्ट्रपति चुनाव की तैयारी कर रहे हैं। इस रिपोर्ट में कहा गया था कि 2020 में अगर डोनाल्ड ट्रंप राष्ट्रपति चुनाव की दौड़ में नहीं रहे, तो पेंस उनकी जगह लेंगे। वह इसकी तैयारी कर रहे हैं। ह्वाइट हाउस से जारी एक बयान में पेंस ने कहा, 'न्यूयॉर्क टाइम्स में छपी यह रिपोर्ट शर्मनाक है। यह मुझ पर, मेरे परिवार और हमारी पूरी टीम पर हमले जैसा है। इसमें जो कुछ लिखा है, वह झूठ है।' किसी अखबार में छपी रिपोर्ट का इस तरह औपचारिक रूप से उपराष्ट्रपति द्वारा खंडन किया जाना भी अपने आप में अनोखा माना जा रहा है। बयान में पेंस ने कहा, 'हमारी टीम राष्ट्रपति ट्रंप के एजेंडे को आगे बढ़ाने पर काम कर रही है। हम 2020 में उन्हें फिर चुनकर आते हुए देखेंगे।' रिपोर्ट में दावा किया गया है कि पेंस ने 2020 में चुनाव की तैयारी को देखते हुए फंड जुटाने वाली कमेटी भी बनाई है।

पाकिस्तान में गिरफ्तार किए गए आत्मघाती किशोर ने पुलिस को कुछ चौंकाने वाली जानकारी दी

शिकारपुर । पाकिस्तान में गिरफ्तार किए गए आत्मघाती किशोर ने पुलिस को कुछ चौंकाने वाली जानकारी दी है। आत्मघाती हमलावर को विस्फोट अंजाम देने से पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया। उसने जो जानकारी दी है उससे देश में हाल के दिनों में सांप्रदायिक हिंसा में आई बाढ़ के पीछे आतंकी नेटवर्क का हाथ होने का पता चलता है। पूछताछ के दौरान उस्मान ने बताया कि नेटवर्क ने कई कट्टरपंथी मदरसे, प्रशिक्षण केंद्र और बम बनाने केंद्र बना रखे हैं। ऐसे केंद्र पूर्वी अफगानिस्तान से लेकर कई जगहों पर हैं। यहां पाकिस्तान के दक्षिणी सिंध प्रांत के युवकों को भर्ती किया जाता है। पाकिस्तान में सांप्रदायिक हिंसा का खतरा दशकों से बना हुआ है। सुन्नी बहुल इस देश में शिया समुदाय पर कई हमले हुए हैं। इन हमलों में सैकड़ों लोग मारे जा चुके हैं। पाकिस्तानी पुलिस का मानना है कि नेटवर्क ने उस्मान को 2000 किलोमीटर की यात्रा करने में मदद की। इस नेटवर्क ने इस्लामिक स्टेट (आइएस) को दक्षिण एशिया में अपने कट्टरपंथी एजेंडे को विस्तार देने में मदद की। पाकिस्तानी नेटवर्क दशकों से धार्मिक अल्पसंख्यकों को निशाना बनाने वाले कट्टरपंथी गुटों से जुड़े कई आतंकियों को एकजुट कर रहा है। पुलिस ने कहा कि यह नेटवर्क आइएस को अपना विचार फैलाने के लिए उर्वर जमीन मुहैया करा रहा है। उस्मान ने पूछताछ में आइएस का नाम नहीं लिया है, लेकिन पुलिस का मानना है कि यह नेटवर्क इसी आतंकी संगठन का है जिसने उसे भर्ती किया और प्रशिक्षण दिया है। पाकिस्तान में हुए पांच सांप्रदायिक धमाकों में उसी का हाथ है।

अमेरिका भी भारत की मदद के बिना चीन के समक्ष खड़ा नहीं हो सकता

बीजिंग/नई दिल्ली। भारत-चीन-भूटान सीमा पर डोकलाम में जारी तनाव के बीच चीनी विशेषज्ञों ने आशंका जताई है कि भारतीय सेना को पीछे हटाने के लिए चीन सैन्य कार्रवाई कर सकता है। स्थानीय मीडिया में इन एक्सपर्ट के हवाले से कहा गया है कि चीन भारतीय सेना की तैनाती को बहुत दिनों तक बर्दाश्त नहीं करेगा। वह दो हफ्तों के अंदर छोटे स्तर का सैन्य ऑपरेशन चलाने की तैयारी कर रहा है। चीन में इंस्टिट्यूट ऑफ इंटरनेशनल रिलेशन्स ऑफ द शंघाई अकादमी ऑफ सोशल साइंसेस के रिसर्च फेलो हू जियोंग के मुताबिक डोकलाम में भारतीय सेना की तैनाती को लेकर चीन में हर दिन हलचल बढ़ती जा रही है। शुक्रवार को भी वहां छह मंत्रालयों व सेना से जुड़े संस्थानों की हाईलेवल मीटिंग हुई। चीन भारत से कह चुका है कि वह अपनी सेना पीछे हटाए, लेकिन भारत कह रहा है कि वह अपनी जमीन पर खड़ा है, इसलिए सेना पीछे हटाने का सवाल नहीं। चीन यह आरोप भी लगा रहा है कि भारत, भूटान के बहाने चीन पर दबाव बनाने की कोशिश कर रहा है। ...तो भारत के साथ खड़ा होगा अमेरिका इस बीच अंतरराष्ट्रीय मामलों के जानकार मेघनाद देसाई का मानना है कि भारत के साथ अमेरिका और चीन के संबंध इस समय बेहद विस्फोटक स्थिति में हैं। उनका कहना है कि डोकलाम में जारी तनाव का भविष्य काफी हद तक दक्षिण चीन सागर की घटनाओं पर निर्भर है। ब्रिटेन के उच्च सदन हाउस ऑफ लार्ड्स के सदस्य मेघनाद ने एक साक्षात्कार में कहा कि अगर दोनों जगहों पर युद्ध शुरू हुआ तो अमेरिका और भारत एक तरफ और चीन दूसरी तरफ होगा। वह कहते हैं कि डोकलाम में तनातनी ही भारत-चीन के बीच तनाव की एक मात्र वजह नहीं है, बल्कि पूरी दुनिया में जारी भू-राजनीतिक तनाव इसकी वजह है खासतौर पर दक्षिण चीन सागर। उनका कहना है, "आज कोई भी यह नहीं सोच सकता कि डोकलाम का मसला विस्फोटक रूप ले लेगा। लेकिन, एक महीने के अंदर चीन के साथ पूर्ण युद्ध हो सकता है। उस समय यह नियंत्रण से बाहर होगा। यह अचानक शुरू हो सकता है, लेकिन तब भारत (विभिन्न देशों के साथ) का रक्षा सहयोग काम आएगा।" मेघनाद का यह भी मानना है कि यह युद्ध सिर्फ डोकलाम में नहीं बल्कि कई मोर्चों पर एक साथ लड़ा जाएगा। वह कहते हैं कि चीन उत्तरी हिमालय के सभी स्थानों पर लड़ाई लड़ेगा। जब उनसे पूछा गया कि क्या युद्ध की स्थिति में अमेरिका भारत के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा होगा तो उन्होंने कहा, निश्चित तौर पर। उन्होंने कहा, यह समझना होगा कि अमेरिका की सहायता और समर्थन के बिना भारत चीन के समक्ष खड़ा नहीं हो सकता और अमेरिका भी भारत की मदद के बिना चीन के समक्ष खड़ा नहीं हो सकता। दोनों देशों के बीच संबंधों में यही समानता है। भारत की रक्षा तैयारियों पर चिंता जताते हुए उन्होंने कहा कि चीन के साथ युद्ध काफी कठिन और लंबा होगा। लिहाजा, भारत को चीनी सेना की तुलना पाकिस्तानी सेना से करने की भूल नहीं करनी चाहिए। उन्होंने कहा, "पिछले अनुभवों से मुझे लगता है कि हम हमेशा यह मान लेते हैं कि हम पूरी तरह तैयार हैं, लेकिन आपकी लड़ाई दुनिया की सर्वश्रेष्ठ सेनाओं में से एक से हो रही होगी। यह बेहद शक्तिशाली सेना है और मुझे लगता है कि उन्हें पर्वतीय युद्ध का भी प्रशिक्षण दिया गया है। इसलिए मुझे लगता है कि यह भारत के लिए बेहद कठिन लड़ाई होगी।"